Tag Archives: अन्ना

आओ लोकपाल लोकपाल खेलें

सामान्य

आओ लोकपाल लोकपाल खेलें

 

आओ लोकपाल लोकपाल खेलें
आओ अनशन अनशन खेलें

हम बन जाएं सरकार तुम बन जाओ अन्ना
भ्रष्टाचार के दलदल में लोकपाल का गन्ना
मिल बैठ के बात करेंगे
एक-दूजे की नहीं सुनेंगे
हम गाएंगे संसद-संसद
तुम शोर से करना अनशन
खेल फिर खूब जमेगा, जनता का मन बहलेगा
आओ लोकपाल लोकपाल खेलें
आओ अनशन अनशन खेलें

हम अपना इक ड्राफ्ट बनाएं तुम अपना इक लाना
हम जब संसद में पहुंचाएं तुम सड़कों पर जाना
संसद  में  भाईचारा
सड़क पर देश का नारा
देश-भक्ति की गंगा होगी
भ्रष्ट-पापों से मुक्ति होगी
अनशन खूब जमेगा, जन आक्रोश निकलेगा
आओ लोकपाल लोकपाल खेलें
आओ अनशन अनशन खेलें

अन्ना बनेंगे दूसरे गांधी लिए गांधी का वाद
सत्ता की वैतरणी मिलकर खूब डाल रही खाद
बाहर भी आग लगी है
यहां भी संकट की घड़ी है
वैश्विक आका भी चाहें
गांधी जी ही राह दिखाएं
अहिंसा का रंग जमेगा, झुनझुना खूब बजेगा
आओ लोकपाल लोकपाल खेलें
आओ अनशन अनशन खेलें

जब रच जाए खेला पूरा मिलकर साथ निभाना
बातचीत की राह पे चलकर झुकना और झुकाना
मूल थोड़ा सा फिसले
बीच के रास्ते निकलें
हंसी-खुशी से रस्ते लेंगे
लोग चैन की सांसे लेंगे
जीत की खुशी मनेगी, हमारा तुम्हारा रंग जमेगा
आओ लोकपाल लोकपाल खेलें
आओ अनशन अनशन खेलें

भ्रष्ट तंत्र की भ्रष्ट डगर का आधार नहीं हिलेगा
जनता का मन हरने को हथियार नया मिलेगा
तंत्र फिर से रास रचेगा
लोक अपने सिर को धुनेगा
पूंजी का ही राज चलेगा
समाज फिर हाथ मलेगा
जिंदगी यूं ही चलेगी, राज-काज यूं ही चलेगा
आओ लोकपाल लोकपाल खेलें
आओ अनशन अनशन खेलें

सब फिर से जुट जाएंगे, भ्रष्ट तंत्र को थाम।
रघुपति राघव गाएंगे,  ले गांधी का  नाम।।

०००००