मसला मनुष्य का है

सामान्य

मसला मनुष्य का है – वीरेन डंगवाल

कविता पोस्टर – रवि कुमार ( a kavita poster by ravi kumar )

8 responses »

    • कमल भाई,
      कम से कम…नहीं मानने से…हम उनके पक्ष में नहीं खड़े हैं…यह तो प्रदर्शित होता ही है…
      और शायद यही…फर्क पड़ने की भी एक शुरुआत हो सकती है.. 🙂

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s